NASA अब पहले ही बता देगा किस शहर में आएगा भूकंप | NASA's CIRES Mission

NASA अब पहले ही बता देगा किस शहर में आएगा भूकंप | NASA's CIRES Mission

पिछले 100 साल में अब तक कई बड़े भूकंप दुनिया में आ चुके हैं बहुत से लोगों की मौत हुई है।
जनवरी 12 2010 को Haitian capital Port-au-Prince में 7 magnitude भूकंप आया था जिसमें करीब 230,000 लोगों की मौतें हुई

भूकंप से अब तक करीब 1000000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और NASA नहीं चाहता कि अगले 100 साल में ऐसा फिर हो

हम भूकंप के बारे में पहले पता नहीं लगा सकते हैं हम इसे रोक नहीं सकते हैं अभी के यंत्र से भुकंप का पता कुछ मिनट पहले ही चलता है
हमें उतना समय नहीं मिल पाता है कि हम भुकंप से होने वाले नुकसान को कम कर पाए

क्या है NASA का CIRES Mission

अभी जो हमारे पास भुकंप का पता लगाने का सिस्टम है उसमें हम भुकंप के Waves को डिटेक्ट करते हैं।
जब धरती के बहुत अंदर से भुकंप आता है तो उसमें से दो तरह के Waves निकलते हैं P wave and S wave

To better understand the particle motion and characteristics of the both types of wave, notice the deformation of the black rectangle as the wave propagates through it. Images and captions courtesy of L. Braile, Purdue University

सबसे पहले S Wave निकलती है हम इंसान इस Wave को महसूस नहीं कर सकते हैं अगर हम इसका पहले ही पता लगा ले तो हम कुछ घंटों पहले ही बता देंगे कि भुकंप आने वाला है तैयार हो जाओ

अभी हमारे पास भुकंप का पता लगाने के लिए कोई यूनिवर्सल सिस्टम नहीं है सभी देशों ने अपने अपने सिस्टम बना रखे हैं।

नासा ने सोचा अभी हम भुकंप का पता धरती से लगाते हैं क्यों ना इसे धरती से निकालकर अंतरिक्ष में ले जाया जाए

इसी के साथ शुरू हुआ नासा का CIRES मिशन इसका मतलब है cubeset imaging radar for earth Science

Cubeset का मतलब होता है एक छोटा सा सेटेलाइट इसमें एक Radar लगा हुआ है जिसका नाम interferometer syntrete aperture radar ( Isar ) है

Nasa इससे दो फोटो खींचेगा और उन दोनों का अध्ययन करके Nasa पहले ही बता देगा कि यहां पर भूकंप आने वाला है

इसका लॉन्च सबसे पहले नॉर्थ अमेरिका में फिर यूरोप में उसके बाद साउथ अफ्रीका फिर एशिया में होगा
उसके बाद Nasa पूरी तरह से धरती को मॉनिटर कर पाएगी उसके बाद हमें अंतरिक्ष से पता चल जाएगा कि किस शहर में कब भूकंप आने वाला है
नासा अगले 10 साल में सभी सेटेलाइट को लांच कर देगा