फटने वाला है सबसे बड़ा रेड ड्वार्फ तारा |A Giant Red Star Betelgeuse | पृथ्वी पर तबाही...

हमारे मिल्की वे गैलेक्सी एक giant red star जिसका नाम Betelgeuse हैं
वैज्ञानिकों के अनुसार पिछले कुछ महीनों से यह तारा अजीब व्यवहार कर रहा है कभी इसका रौशनी अचानक बढ़ जाता है तो कभी अचानक घट जाता है

और यह बिल्कुल शिथिल ( fainter ) हो गया है वैज्ञानिकों को लग रहा है
यह giant red star Betelgeuse अपने आखिरी समय से गुजर रहा है कभी भी फट सकता है

Ed Guinan Villanova University में astronomy के professor हैं 8 December के एक पेपर के मुख्य लेखक थे
जिसका शीर्षक था"The Fainting of the Nearby Supergiant Betelgeuse." उन्होंने सीएनएन ( CNN ) को बताया अक्टूबर 2019 से Betelgeuse के चमक में तेजी से गिरावट आ रही थी अपने वास्तविक चमक से 2.5 गुना कम हो गया था।

पहले Betelgeuse Milky way का नौवां सबसे चमकीला तारा था पिछले कुछ महीनों में अब Betelgeuse Milky way का 23 वें सबसे चमकीले तारे के स्थान पर आ गया है
Ed Guinan और उनके सहयोगियों ने सन् 1980 से अब तक Betelgeuse का बारीकी से निरीक्षण किया है

यह तारा पिछले आधा शताब्दी में कभी भी इतने आक्रामक रूप से मंद नहीं हुआ। Ed guinan ने कहा तारे के अंदर सुपरनोवा कितनी गहरी है।
यह तारा इतना विशाल है इसलिए यह बताना असंभव है कि इसके अंदर क्या चल रहा है। पृथ्वी से इसकी दूरी 642.5 light year हैं
हम कुछ असाधारण देखने वाले हैं जो हमने आज से पहले कभी नहीं देखा है

Extra Knowledge

Betelgeuse ओरियन के कंधे पर स्थित तारा है जो एक शिकारी के आकार में प्रतिष्ठित नक्षत्र है।
जो रात के आकाश में एक धनुष का निर्माण करता है।
इसका नाम अरबी से "ओरियन के हाथ" के लिए लिया गया है।



कब बन सकता है Supernova "Betelgeuse"

ed Guinan ने कहा अगर यह तारा सुपरनोवा बनता है तो यह हमारे नजदीक का सबसे बड़ा सुपरनोवा होगा।
कोई भी विशाल तारे के पास 10 Million ( 1 करोड़ ) से ज्यादा उम्र नहीं है
इस तारे ने अपना 95 मिलियन उम्र का जीवन जी लिया है

हालांकि इसके पास समय कम है पर यह तारा हमारे जीवन काल में संभवतः सुपरनोवा नहीं बनेगा यह शायद अगले 200,000 से 300,000 वर्षों में सुपरनोवा बन सकता है

पृथ्वी पर क्या असर होगा Betelgeuse के सुपरनोवा बनने के बाद

जब यह लाल सुपर जॉइंट तारा सुपरनोवा बनेगा उसके बाद आसमान में तीन चार महीने तक नीले रंग का चमक दिखाई देगा और इसे खत्म होने में लगभग 1 साल लगेगा।
यह वास्तव में दिन में दिखाई देने वाला सितारा होगा।

पृथ्वी पर जीवन के लिए इसका कोई सीधा खतरा नहीं होगा
लेकिन अकाशीय विस्फोट से पराबैगनी विकिरण हमारे वातावरण में ओजोन परत को झुलसा सकता है

ऐसे ही और खबरें पढ़ने के लिए Twitter पर हमें Follow करे