NASA New Mission | Dart Mission क्या है

NASA New Mission | Dart Mission क्या है

Dart Mission

Nasa का Dart Mission क्या है NASA इस Mission क्यों कर रहा है
करीब 50 लाख साल पहले धरती पर डायनासोर राज किया करते थे और फिर तभी 10 से 15 किलोमीटर बड़ा एक एस्ट्रॉयड पृथ्वी से टकराता है इस टक्कर के बाद सभी डायनासोर मारे जाते हैं उसके बाद धरती पर मैमल्स या हम मानवों का राज हो जाता है

आज मनुष्य ने पूरे धरती पर कब्जा कर लिया है अब वह मंगल ग्रह पर और कई दूसरे ग्रह पर अपना घर बसाना चाहता है अपने सौरमंडल से बाहर निकलना चाहता है

Russia के एक शहर में गिरा एस्ट्रोराइड

2013 में Russia के एक शहर चेलियाबिंस्क में करीब 20 मीटर बड़ा meteorite गिरा था इस Meteorite के वजह से उस शहर में 15 सौ घरों को नुक्सान हुआ था बहुत से घर के शीशे टूट गए यह meteorite जहां पर गिरा था वहां के सारे पेड़ पौधे तहस-नहस हों गया था

अब NASA को यह डर सताने लगा है कहीं फिर से कोई एस्ट्रॉयड धरती से टकरा ना जाए और हम मानवों का अंत ना हो जाए इस meteorite के गिरने के बाद नासा सचेत हो गया है इसीलिए नासा ने इस DART MISSION को शुरू किया है

What is DART Mission

DART पुरा नाम है Double Asteroid Redirection Test
इस मिशन के जरिए Nasa यह जानना चाहता है कि क्या वह किसी एस्ट्रॉयड के दिशा को मोड़ सकता है हमारे सौरमंडल में एक बहुत ही बड़ा एस्ट्रॉयड है
इसका नाम है Didymos इस एस्ट्रॉयड की खास बात यह है इसमें दो एस्ट्रॉयड है इसमें से एक एस्ट्रॉयड अपने ही एस्ट्रॉयड का चक्कर लगा रहा है और दूसरा एस्ट्रॉयड हमारे सूरज का चक्कर लगा रहा है नासा इसी एस्ट्रॉयड के didymoon को हिट करने वाला है NASA देखना चाहता है

यह भी पढ़ें :- NASA ने खोजा SuperEarth

इस टक्कर से उस एस्ट्रॉयड के दिशा में कितना परिवर्तन आता है अगर NASA यह करने में कामयाब होता है तो पृथ्वी के बचने का कुछ तो उम्मीद है
इस मिशन को लॉन्च किया जाएगा Dec to may 2021 में इस सैटेलाइट को Space X के रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा फिर October 2022 में यह सैटेलाइट उस एस्ट्रॉयड को हिट करेगा उसके बाद NASA पता करेगा कि उस एस्ट्रॉयड के दिशा में कितना परिवर्तन आया है

Dart Mission

अगर NASA इस मिशन में फैल होता है तो यह धरती के लिए अच्छी खबर नहीं होगी
अभी फिलहाल तो धरती को बचाने का ठेका बस NASA और ESA ( European space agency ) के पास ही है इसमें China, Japanese, Russian, India इन देशों की agency कुछ भी नहीं कर सकती है

अभी यह देश इतने विकसित नहीं हुए हैं
अभी हमारे पास ऐसी कोई तकनीक नहीं है कि हम किसी धरती से टकराते हुए एस्ट्रॉयड को रोक सके अभी अगर कुछ सालों में कोई बड़ा एस्ट्रॉयड धरती की तरह आता है तो हम उस एस्ट्रॉयड रोक नहीं सकते हैं और वह सीधा धरती से टकरा जाएगा इसमें NASA भी कुछ नहीं कर सकता है